akhtar

May 5, 2018

याद उसे भी एक अधूरा अफ़्साना तो होगा

याद उसे भी एक अधूरा अफ़्साना तो होगा कल रस्ते में उस ने हम को पहचाना तो होगा डर हम को भी लगता है रस्ते के […]